9 माह से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों का होगा टीकाकरण

9 माह से 15 वर्ष तक के सभी बच्चों का होगा टीकाकरण

भीलवाड़ा, 14 मई/ जिले में 22 जुलाई से खसरा रुबेला अभियान की शुरुआत होगी । इस अभियान में 9 माह से 15 वर्ष तक की आयु के सभी बच्चों का टीकाकरण किया जायेगा । ये टीके बच्चों की खसरा एवं रुबेला संक्रमण से रक्षा करेंगे । जिला कलक्टर राजेन्द्र भट्ट ने बताया कि जिले के 7 लाख से ज्यादा बच्चे टीकाकरण अभियान से लाभान्वित होंगे । अभियान के सफल संचालन के लिये जिला स्तरीय एवं ब्लॉक स्तरीय टास्कफोर्स का गठन किया जायेगा।
तीन चरणों में चलेगा अभियानः
अभियान के पहले दो से तीन सप्ताह में सभी सरकारी, गैर सरकारी, निजी, मदरसों, बालवाडी, मकतव आदि में बच्चों का टीकाकरण किया जायेगा। अगले दो सप्ताह में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रा के आउटरीच/वाह्य सत्रों पर स्कूल नहीं जाने वाले बच्चों, छूटे हुए बच्चों आदि का टीकाकरण किया जायेगा। इसी के साथ मोबाईल टीम द्वारा ईट भट्टों, घुमन्तु आबादी के बच्चों का टीकाकरण किया जायेगा। छठे सप्ताह में छूटे हुए
बच्चों का टीकाकरण करने के लिये इन गतिविधियों को दुबारा किया जायेगा।
क्या है खसरा, रुबेलाः
खसरा एक जानलेवा एवं तीव्रगति से फैलने वाला अतिसंक्रामक रोग है तथा प्रभावित रोगी द्वारा खांसने एवं छींकने से फैलता है । इसके प्रभाव से बच्चों को निमोनियां, दस्त एवं मस्तिष्क में संक्रमण जैसी घातक बीमारियों का खतरा बना रहता है जो नवजात शिशुओं एवं बच्चों की मृत्यु का प्रमुख कारण है।
गर्भावस्था के आरंभ से ही महिला को रुबेला संक्रमण का खतरा रहता है जिससे होने वाले शिशु में कन्जेनिट्ल रुबेला सिण्ड्रोम (सीआरएस) हो सकता है । इसी कारण शिशु में अंधापन, बहरापन, मानसिक मंदता एवं दिल की बीमारी हो सकती है। रुबेला संक्रमण से गर्भवती महिला में गर्भपात एवं स्टिल बर्थ की संभावना भी बढ जाती है।
खसरा रुबेला का टीका रोग से बचाव का एक सशक्त माध्यम है। खसरा एवं रुबेला रोग का बचपन में टीकाकरण कराये जाने से इसके प्रसार एवं गंभीर खतरों को रोका जा सकता है।
शत प्रतिशत लक्ष्य के लिये विभागों को दी जिम्मेदारीः
अभियान के क्रियान्वयन की कार्य योजना तैयार करने के लिये जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जिला टास्कफोर्स एवं उपखण्ड अधिकारी की अध्यक्षता में ब्लॉक टास्कफोर्स का गठन किया गया है। टीकाकरण का शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल करने के लिये इस अभियान में चिकित्सा विभाग के साथ साथ शिक्षा, महिला एवं बाल विकास, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, जनजाति क्षेत्रीय विकास, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज, सूचना एवं जनसंपर्क, शहरी विकास एवं आवास, श्रम एवं नियोजन, अल्पसंख्यक मामलात एवं वक्फ् बोर्ड, गृह सुरक्षा, होमगार्ड एवं जेल विभाग तथा रेलवे विभाग भी सहयोग करेंगे।
टीकाकरण अभियान की सफलता के लिये एक मई को जिला स्तरीय कार्यशाला आयोजित की जा चुकी है। सीडीपीओ, एएनएम एवं शिक्षा विभाग सहित अन्य विभागों के ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों/ कार्मिकों को प्रशिक्षण देने के लिये ब्लॉक स्तरीय कार्यशाला 20 से 30 मई के बीच आयोजित की जायेगी । आशा, आंगनबाडी कार्यकर्ता, निजी एवं सरकारी स्कूल के स्टाफ सहित सेक्टर स्तरीय कार्मिकों को प्रशिक्षित करने के लिये जून माह में सेक्टर स्तरीय कार्यशाला आयोजित की जायेगी।
  • Powered by / Sponsored by :