अब सम्मानजनक कर सकेंगे मृतक का अंतिम संस्कार

अब सम्मानजनक कर सकेंगे मृतक का अंतिम संस्कार

भीलवाड़ा, 15 सितम्बर / कोरोना वायरस के संक्रमण के दौरान मृत्यु होने पर मृत शरीर के प्रबंधन एवं सम्मानजनक अंतिम संस्कार के लिये राज्य सरकार ने भारत सरकार द्वारा दिये गये निर्देश तथा कर्नाटक उच्च न्यायालय द्वारा दिये गये आदेश के क्रम में विशेषज्ञों द्वारा निर्धारित प्रक्रिया व आमजन की भावना के अनुरुप मृतक के देह का सम्मानपूर्वक अंतिम संस्कार करने के लिये विशेष प्रोटोकाल जारी किया है जिसकी पालना के आधार पर मृत व्यक्ति के परिवार की ओर से अंतिम संस्कार किया जा सकेगा।
प्रोटोकाल के अंतर्गत प्रत्येक मृतक की कोविड जांच कराया जाना आवश्यक नहीं है केवल उसी मृतक व्यक्ति की कोविड-19 की जांच की जायेगी जिनकी मृत्यु आईएलआई और एसएआरआई के लक्षणों से हुई हो। मृतक व्यक्ति की देह कोविड जांच रिपोर्ट का इंतजार किये बिना परिजनों को हस्तान्तरित कर दी जायेगी। मृतक देह का शव परीक्षण नहीं किया जायेगा।
मृतक के अंतिम संस्कार करने वाले व्यक्ति द्वारा मृतक का अंतिम संस्कार कोवडि 19 से बचाव के समस्त सुरक्षात्मक उपाय जैसे पीपीई किट, दस्तानें, मास्क, सामाजिक दूरी आदि का उपयोग करते हुए किया जायेगा। अंतिम संस्कार करने वाले व्यक्ति को पीपीई किट संबंधित
अस्पताल प्रशासन द्वारा उपलब्ध होगा। इसी प्रकार अंतिम संस्कार में शामिल व्यक्ति अंतिम संस्कार के पश्चात् इस्तेमाल किये गये पीपीई किट, दस्तानें, मास्क आदि का निर्धारित प्रोटोकाल के अनुसार निस्तारण कर स्नान करने एवं साबुन से अच्छी तरह हाथ आदि धोने के साथ ही सफाई का विशेष ध्यान रखेंगे। मृतक की देह को एक जिले से दूसरे जिले में ले जाने के लिये संबंधित जिला प्रशासन की अनुमति की आवश्यकता भी नहीं है। इस बाबत अस्पताल प्रशासन एवं मृतक के परिजनों द्वारा इसकी सूचना संबंधित जिला प्रशासन, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं स्थानीय निकाय को दिया जाना आवश्यक किया है।
मृतक का अंतिम संस्कार नगरीय क्षेत्रों में स्थानीय निकाय के प्रतिनिधि एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित उपखण्ड अधिकारी के प्रतिनिधि की उपस्थिति में किया जायेगा। यदि होम आइसोलेशन में
किसी कोविड संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो मृतक के परिजनों द्वारा संबंधित जिला प्रशासन, मुख्य चिकितसा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं स्थानीय निकाय को सूचित किये जाने के
उपरान्त मृतक का अंतिम संस्कार नगरीय क्षेत्रों में स्थानीय निकाय के प्रतिनिधि एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित उपखण्ड अधिकारियों के प्रतिनिधि की उपस्थिति में किया जायेगा।
  • Powered by / Sponsored by :