थानागाजी में हुए सामुहिक दुष्कर्म मामले मे एक आरोपी गिरफ्तार

थानागाजी में हुए सामुहिक दुष्कर्म मामले मे एक आरोपी गिरफ्तार

जयपुर, 7 मई। अलवर जिले के थानागाजी थाने में 2 मई को पंजीबद्ध सामुहिक दुष्कर्म के मामले मे पुलिस ने एक अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है और शेष वांछित 4 अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार करने के लिए 14 दलों का गठन किया गया है।
पुलिस महानिदेशक श्री कपिल गर्ग ने बताया कि मामला दर्ज होते ही नियमित प्रक्रिया अपनाते हुए पीड़िता के बयान, मेडिकल परीक्षण इत्यादि के साथ ही साक्ष्य एकत्रित कर अपराधियों की धरपकड़ की कार्यवाही प्रारंभ की गई । इस घृणित दुष्कर्म में लिप्त अपराधियों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्यवाही करने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये गए है । उन्होंने बताया कि किसी भी स्तर पर लापरवाही या अनियमितता पाई जाने पर सख्त कार्यवाही की जायेगी।
आरंभिक कार्यवाही में देरी करने पर थानागाजी के थानाधिकारी को निलंबित कर दिया गया है।
श्री गर्ग ने बताया कि 2 मई को थानागाजी में गैंगरेप का मामला दर्ज करवाया गया था। पीड़िता का आरोप है कि पति के साथ बाइक से जा रही थी एवं 5 लोगों ने उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म किया । पुलिस द्वारा 5 आरोपियों में से एक आरोपी इंद्राज गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया गया है । आरोपी इंद्राज ट्रक ड्राइवर है व प्रागपुरगांव का निवासी है । उन्होंने बताया कि शेष वांछित 4 आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करने के लिए 14 दलों का गठन किया गया है ।
उन्होंने बताया कि बांसवाड़ा में 14 वर्षीय मूकबधिर द्वारा मृत शिशु को जन्मदेने के मामले में परिवार द्वारा कार्यवाही से इंकार के उपरांत बांसवाड़ा पुलिस अधीक्षक ने मूकबधिर व उसकी माँ से उनके घर जाकर संपर्क किया और दुष्कर्म का मामलादर्ज करने के लिए प्रेरित किया । प्रकरण की जांच की जा रही है।
उन्होंने बताया कि उदयपुर में सोमवार को हुए दुल्हन के अपहरण के मामले में 7 में से 5 मुल्जिम चिन्हित किये जा चुके हैं व उनकी शीघ्र गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं ।
श्री गर्ग ने बताया कि राजस्थान पुलिस द्वारा किसी भी प्रकार के अपराध होने मामले दर्ज करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। दर्ज मामलो की तफ्तीश कर मुल्जिमान को सजा दिलाने के विशेष प्रयास किये जा रहे हैं ।
उन्होंने कहा कि हमारा मकसद है कि न केवल मामला दर्ज हो, बल्कि मुल्जिम भी तुरंत गिरफ्तार हो। साथ ही कोर्ट में पर्याप्त सबूत के साथ मामला पेश हो ताकि हर सम्भव मुल्जिम को सजा दिलाई जा सके ।
श्री गर्ग ने कहा की महिलाओं के विरुद्ध अपराधों पर मुख्यालय से विशेष निगरानी की जा रही है। महिलाओ के विरुद्ध होने वाले अपराधों के प्रति तत्काल गंभीरता से कार्यवाही करने व इस संबंध में विशेष ध्यान देने हेतु समस्त पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया गया है ।
  • Powered by / Sponsored by :