गीता देवी दुस्वाद की स्मृति में प्रतिमाह पूर्णिमा को 100 जरूरतमंदों को मिलेगा 10 किलो आटा

गीता देवी दुस्वाद की स्मृति में प्रतिमाह पूर्णिमा को 100 जरूरतमंदों को मिलेगा 10 किलो आटा

बारां 21 फरवरी। व्यापार महासंघ अध्यक्ष एवं अतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन के जिलाध्यक्ष ललित मोहन खंडेलवाल द्वारा अपनी स्वर्गीय धर्मपत्नी श्रीमती गीता देवी दुस्वाद की स्मृति में प्रत्येक माह की पूर्णिमा पर शहर के एकल जीवन दंपती तथा वृ़द्ध स्त्री-पुरूषों के जीवन यापन के लिए एक वर्ष तक 10 किलो आटा निशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। अध्यक्ष खंडेलवाल ने बताया कि कोविड काल में भी हमारा संकल्प लिया था कि शहर में कोई भूखा नहीं सोएगा। सभी व्यापारी एवं दानदाताओं के सहयोग से इस संकल्प को लक्ष्य तक पहुंचाकर शतप्रतिशत पूरा किया था। खंडेलवाल ने बताया कि उसी परम्परा का निर्वहन करते हुए उनकी धर्मपत्नी की दानशीलता और सामाजिक सद्भावना को जारी रखते हुए आगामी एक वर्ष तक वृद्ध एकल जीवन जीने वाले वृद्ध दम्पतियों तथा स्त्री-पुरूषों को प्रत्येक माह की पूर्णिमा को यह सेवा निशुल्क उपलब्ध कराई जाती रहेगी। इस कार्य के लिए अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन की जिलाध्यक्ष मंजू गर्ग, व्यापार महासंघ के महेंद्र गोयल बर्तनवाले, महामंत्री प्रदीप जैन व योगेश कुमरा से सम्पर्क कर इस सामाजिक सेवा का लाभ ले सकते हैं। पहला सेवा कार्य आगामी शनिवार 27 फरवरी को पूर्णिमा पर खंडेलवाल धर्मशाला में किया जाएगा। जहां पूर्व में पिछले तीन वर्ष से लगातार कम्बल बैंक सेवा योजना चलाई जा रही थी।
  • Powered by / Sponsored by :